विज्ञापन बंद करने के लिए क्लिक करे   

Vivah Panjikaran 2023: विवाह पंजीकरण क्या है? क्या है इसके महत्वपूर्ण दस्तावेज और पात्रता, इस प्रकार करे ऑनलाइन आवेदन

Vivah Panjikaran 2023: हमारे देश में शादी होने के बाद मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना अनिवार्य हो गया है. भारत के विवाहित जोड़ो के लिए मैरिज सर्टिफिकेट एक अनिवार्य दस्तावेज है. भारत सरकार द्वारा सर्टिफिकेट को अनिवार्य दस्तावेज घोषित कर दिया गया है. भारत का कोई भी नागरिक का पंजीकरण के माध्यम से अपना मैरिज सर्टिफिकेट बनवा सकता है.

शादी के बाद मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना जरूरी होता है. इससे कई लाभ प्राप्त किए जा सकते हैं. इसके लिए सरकार ने आधिकारिक वेबसाइट भी लांच की है. यदि आप विवाह पंजीकरण की संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए है. इस आर्टिकल में हम आपको Vivah Panjikaran से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करेंगे.

विवाह पंजीकरण क्या है?

शादी होने के बाद भारत सरकार शादीशुदा लोगों को मैरिज सर्टिफिकेट प्रदान करती है. शादी के बाद पति पत्नी को मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना अनिवार्य होता है. यह सर्टिफिकेट महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करता है. भारत के किसी भी राज्य या क्षेत्र का नागरिक मैरिज सर्टिफिकेट बनवा सकता है. मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना हर नागरिक के लिए अनिवार्य है. इसकी मदद से महिलाओं की घरेलू हिंसा, धोखाधड़ी, बाल विवाह, तलाक देने, आदि से सम्बन्धित समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं. विवाह प्रमाण पत्र कई दस्तावेजों को बनाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. विवाह पंजीकरण की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके आप अतिरिक्त जानकारी हासिल कर सकते हैं.

Vivah Panjikaran 2023

Overview of Vivah Panjikaran 2023

नाम Vivah Panjikaran 2023
आरम्भ की गई भारत सरकार के द्वारा
वर्ष 2023
लाभार्थी नव विवाहित दंपत्ति
पंजीकरण की प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य विवाह पंजीकरण की ऑनलाइन व्यवस्था
श्रेणी केंद्र सरकारी योजनाएं

Vivah Panjikaran का उद्देश्य

अधिकांश देखा जाता है कि भारत में शादी के बाद कई महिलाओं को अनेक प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है. शादी के बाद महिलाएं घरेलू हिंसा, पति की मृत्यु के बाद घर से निकाल दिया जाना आदि समस्याओं के शिकार हो जाती है. इसके लिए भारत सरकार ने Vivah Panjikaran योजना की शुरुआत की है.

इसके तहत शादीशुदा महिलाओं के सम्मानों की रक्षा की जाएगी और उनके साथ हो रहे अन्याय को रोका जा सकेगा. भारत के हर शादीशुदा जोड़े को विवाह प्रमाण पत्र बनवाना अनिवार्य होगा. मैरिज सर्टिफिकेट शादी के बाद शादी का प्रूफ होता है. यदि आपकी हाल ही में शादी हुई है या आप शादी करने जा रहे हैं और इसके लिए आप मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना चाहते हैं तो आपको आप अपने घर बैठे इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर विवाह पंजीकरण कर सकते हैं. विवाह पंजीकरण महिलाओं को सशक्त बनाने में मदद करेगा.

शादी प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन

भारत में विवाह प्रमाण पत्र बनाने के लिए शादीशुदा लोगों को विवाह पंजीकरण करवाना होगा. इसके लिए भारत सरकार ने इसकी आधिकारिक वेबसाइट लॉन्च की है. इस आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करके आप अपने घर बैठे फोन या कंप्यूटर के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं. इससे आपके पैसे और समय दोनों की बचत होगी. विवाह पंजीकरण के लिए आप ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते हैं.

Vivah Panjikaran से संबंधित मुख्य तथ्य

  • यदि शादी के बाद विवाहित जोड़ा समय से अपना मैरिज सर्टिफिकेट नहीं बनवाता है तो उसके लिए उसे जुर्माना भी भरना पड़ सकता है.
  • जुर्माने की राशि अलग अलग राज्य के हिसाब से सभी विवाहित जोड़ों के लिए अलग-अलग होगी.
  • मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना भारत के सभी नागरिकों के लिए अनिवार्य है.
  • मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने के लिए विवाहित जोड़ों को एक निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होगा.

शादी प्रमाण पत्र आवेदन के लाभ और विशेषताएं

  • मैरिज सर्टिफिकेट बना कर आप नागरिकता भी प्राप्त कर सकते हैं.
  • विवाह पंजीकरण के द्वारा बाल विवाह पर रोक लगाने में भी मदद मिलेगी.
  • शादी के बाद कोई अन्य दस्तावेज बनाने के लिए विवाह प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है.
  • मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना भारत के सभी नागरिकों के लिए अनिवार्य कर दिया गया है. मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने के लिए विवाह पंजीकरण करवाना आवश्यक होता है.
  • शादी के बाद मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने से महिलाओं के अधिकारों की रक्षा होगी.
  • विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार से आवेदन कर सकते हैं.
  • विवाह प्रमाण पत्र बनवाने के लिए विवाहित जोड़े को एक निर्धारित शुल्क का भुगतान करना होगा. यदि आप समय पर विवाह पंजीकरण नहीं करवाते हैं तो आपको जुर्माना भी देना पड़ सकता है.
  • पति की मृत्यु के बाद यदि पत्नी के पास मैरिज सर्टिफिकेट है तो वह अपने सभी अधिकार प्राप्त कर सकती हैं.

Read Also – 

Vivah Panjikaran 2023 की पात्रता मानदंड

  • विवाह पंजीकरण करवाने के लिए शादीशुदा जोड़े को भारत का स्थाई निवासी होना आवश्यक है.
  • विवाह पंजीकरण के लिए पुरुष की आयु 21 वर्ष या उससे अधिक और महिला की आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए. यदि इस निर्धारित आयु से पहले विवाह किया जाता है तो ऐसी स्थिति में उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.
  • शादी होने के 1 महीने के अंदर विवाहित जोड़े को मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना अनिवार्य होता है.
  • विवाह पंजीकरण करवाने के लिए यदि वर या वधू में से कोई तलाकशुदा है तो उस स्थिति में उन्हें अपने तलाक का प्रमाण पत्र जमा करवाना आवश्यक होगा.

आवश्यक दस्तावेज

Vivah Panjikaran कराने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होती है.

  • आवासीय प्रमाण पत्र
  • वर एवं वधू का आधार कार्ड
  • वर वधु का आयु प्रमाण पत्र
  • वर वधु के पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • विदेश में शादी करने की स्थिति में एंबेसी द्वारा नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट
  • शादी का निमंत्रण कार्ड
  • शादी के समय की तस्वीर
  • शादी के समय दो गवाह की सम्पूर्ण जानकारी और उनका प्रमाण पत्र

Online Process of Vivah Panjikaran 2023

  • विवाह पंजीकरण कराने के लिए सबसे पहले अपने राज्य की मैरिज रजिस्ट्रेशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको Apply Now के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • अगले पेज पर आपकी स्क्रीन पर पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा.
  • पंजीकरण फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करनी होगी.
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको अपने आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करके सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा.
  • इस प्रकार आप विवाह पंजीकरण की ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी कर पाएंगे.

Offline Process of Vivah Panjikaran 2023

विवाह पंजीकरण के लिए आप ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते हैं. ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आप नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें.

  • Vivah Panjikaran के लिए ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आपको अपने जिले के संबंधित सब रजिस्ट्रार के ऑफिस में जाकर मैरिज रजिस्ट्रेशन का फॉर्म प्राप्त करना होगा.
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आपसे कुछ महत्वपूर्ण जानकारी पूछी जाएगी. आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म में सभी आवश्यक जानकारी ध्यानपूर्वक दर्ज करनी होगी.
  • आवश्यक जानकारी भरने के बाद आपको अपने आवश्यक दस्तावेजों को रजिस्ट्रेशन फॉर्म से अटैच करना होगा.
  • इसके बाद रजिस्ट्रेशन फॉर्म को सब रजिस्ट्रार के ऑफिस में संबंधित अधिकारी को जमा कराना होगा.
  • फॉर्म जमा कराने के बाद आपको एक रेफरेंस नंबर प्रदान किया जाएगा. इस रेफरेंस नंबर के माध्यम से आप अपने विवाह के पंजीकरण की स्थिति देख सकते हैं.

विवाह पंजीकरण के लिए अलग अलग राज्य के हिसाब से आधिकारिक वेबसाइट

आंध्र प्रदेश  यहां क्लिक करें
 अरुणाचल प्रदेश  यहां क्लिक करें
आसाम  यहां क्लिक करें
 बिहार  यहां क्लिक करें
 छत्तीसगढ़  यहां क्लिक करें
 गोवा  यहां क्लिक करें
 गुजरात  यहां क्लिक करें
 हरियाणा  यहां क्लिक करें
 हिमाचल प्रदेश  यहां क्लिक करें
 झारखंड  यहां क्लिक करें
 कर्नाटका  यहां क्लिक करें
 केरला  यहां क्लिक करें
 मध्य प्रदेश  यहां क्लिक करें
 महाराष्ट्र  यहां क्लिक करें
 मणिपुर  यहां क्लिक करें
 मेघालय  यहां क्लिक करें
 मिजोरम  यहां क्लिक करें
 नागालैंड  यहां क्लिक करें
 ओड़िशा  यहां क्लिक करें
 पंजाब  यहां क्लिक करें
 राजस्थान  यहां क्लिक करें
 सिक्किम  यहां क्लिक करें
 तमिल नाडु  यहां क्लिक करें
 तेलंगाना  यहां क्लिक करें
 त्रिपुरा  यहां क्लिक करें
 उत्तराखंड  यहां क्लिक करें
 उत्तर प्रदेश  यहां क्लिक करें
 वेस्ट बंगाल  यहां क्लिक करें
 पुडुचेरी  यहां क्लिक करें
 लक्षदीप  यहां क्लिक करें
 लद्दाख  यहां क्लिक करें
 जम्मू एंड कश्मीर  यहां क्लिक करें
 दिल्ली  यहां क्लिक करें
 दादर एंड नगर हवेली दमन एंड दिउ  यहां क्लिक करें
 चंडीगढ़  यहां क्लिक करें
 अंडमान निकोबार आईलैंड  यहां क्लिक करें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top