Gramin Bhandaran Yojana 2023: बिहार अन्न भंडारण योजना: गोदाम बनाने के लिए कृषि विभाग दे रहा है 50 फीसदी अनुदान, जानिए क्या है स्कीम

Gramin Bhandaran Yojana 2023: केंद्र सरकार द्वारा देश के किसानों के विकास के लिए कई प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है और इन योजनाओं के माध्यम से देश के किसानों का आर्थिक कल्याण किया जाता है. केंद्र सरकार द्वारा Gramin Bhandaran Yojana को देश के किसानों के लिए शुरू किया गया है. इस योजना के तहत किसानों को अनाज भंडारण के लिए गोदामों की व्यवस्था उपलब्ध करवाई जाएगी और गोदाम निर्माण के लिए इस योजना के अंतर्गत सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी.

इसके माध्यम से किसान अपने अनाज को सुरक्षित रखने के लिए गोदामों का निर्माण कर सकेंगे. किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सरकार ने इस योजना की पहल की है. देश के किसान नागरिक इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करके इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं. आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से Gramin Bhandaran Yojana के उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता मानदंड और आवेदन करने की संपूर्ण प्रक्रिया की जानकारी प्रदान करेंगे.

Gramin Bhandaran Yojana 2023

Gramin Bhandaran Yojana क्या है?

हमारे देश में फसल की पैदावार तो अच्छी होती है और उनकी गुणवत्ता भी अच्छी होती है लेकिन फसलों को सुरक्षित रखने के लिए जगह का अभाव होता है इस कारण फसल खराब हो जाती है और इसलिए किसान इन फसलों को कम दामो में बेच देते हैं. भारत सरकार ने इन बातों को ध्यान में रखते हुए ग्रामीण भंडारण योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत केंद्र सरकार किसानों को अनाज को सुरक्षित रखने के लिए भंडारण की व्यवस्था करेंगी और अनाज गोदामों का निर्माण करने के लिए सब्सिडी के साथ ऋण की सुविधा प्रदान करेगी.

देश के किसान स्वयं भी अनाज भंडारण के लिए गोदामों का निर्माण कर सकते हैं और किसानों से जुड़ी संस्थाओं द्वारा भी भंडार गृह का निर्माण किया जा सकता है. इस योजना के माध्यम से किसान अपनी फसल को सुरक्षित रख सकेंगे और अपनी फसल को अच्छे दामों में बेच सकेंगे. इससे उनकी आय में वृद्धि होगी और वह फसल को सुरक्षित रखने में सक्षम होंगे.

Overview of Gramin Bhandaran Yojana 2023

योजना का नाम  Gramin Bhandaran Yojana 2023
आरम्भ की गयी केंद्रीय कृषि कल्याण विभाग द्वारा
वर्ष 2023
लाभार्थी देश के किसान नागरिक
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य किसान नागरिकों को गोदाम बनानेहेतु सब्सिडी प्रदान करना
लाभ सब्सिडी की सुविधा
श्रेणी केंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट nabard.org

Gramin Bhandaran Yojana के अंतर्गत परियोजना की पूंजी लागत

इस योजना के तहत हजार टन क्षमता के भंडार ग्रह के लिए बेंको द्वारा प्रदान की जाने वाली परियोजना लागत वास्तविक लागत अथवा ₹3500 प्रति टन की धनराशि में से जो भी कम हो.
हजार टन से अधिक क्षमता वाले भंडार ग्रह के लिए बैंक द्वारा उपलब्ध की जाने वाली मूल्यांकन परियोजना लागत वास्तविक लागत व 1500 रूपये प्रति टन की धनराशि से जो भी कम हो.

ग्रामीण भंडारण योजना का उद्देश्य

Gramin Bhandaran Yojana का मुख्य उद्देश्य केंद्र सरकार द्वारा किसानों की आय को दोगुनी करके उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार करना है जिससे उनके परिवार का पालन पोषण आसानी से किया जा सके. इस योजना के अंतर्गत देश के किसानों को अनाज भंडारण के लिए सुरक्षित भंडार गृहों का निर्माण किया जाएगा. गोदामों में किसान अपनी फसल को लंबे समय तक सुरक्षित रख सकेंगे और अपनी फसल को अच्छे दामों में बेच सकेंगे. भंडार गोदामों के लिए किसानों को सब्सिडी के साथ ऋण की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी. इससे उनकी आय में वृद्धि होगी और वे आत्मनिर्भर और सशक्त बनेंगे. इस योजना में लाभ लेने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा.

ग्रामीण भंडारण योजना क्षमता

Gramin Bhandaran Yojana के तहत सब्सिडी प्राप्त करने के लिए भंडार ग्रह की क्षमता 100 टन से 30000 टन के बीच होनी चाहिए. यदि किसी उम्मीदवार के भंडार ग्रह की क्षमता 100 टन से कम और 30000 टन से अधिक होती है तो उसे इस योजना के तहत लाभ प्रदान नहीं किया जाएगा. र्वतीय क्षेत्रों में 25 टन क्षमता वाले और कुछ विशिष्ट वाकयों में 50 टन क्षमता वाले गोदाम को इस योजना के तहत सब्सिडी उपलब्ध की जाएगी.

Gramin Bhandaran Yojana 2023 के लाभ और विशेषताएं

  • इस योजना के माध्यम से किसानों को अपना अनाज सुरक्षित रखने के लिए भंडारण व्यवस्था के लिए सब्सिडी के साथ ऋण प्रदान किया जाएगा.
  • केंद्र सरकार द्वारा इस योजना का शुभारंभ देश के किसानों को लाभान्वित करने के लिए किया गया है.
  • किसान निर्धारित किए गए बैंकों द्वारा भंडार गृहों के निर्माण के लिए ऋण प्राप्त कर सकते हैं.
  • इस योजना के तहत किसान अपने अनाज को सुरक्षित रखने के लिए भंडारण का निर्माण स्वयं भी कर सकते हैं और किसानों से संबंधित संस्थानों द्वारा भी करवा सकते हैं.
  • इस योजना के तहत किसान अपने अनाज को सुरक्षित रखने के लिए भंडारण की व्यवस्था कर पाएंगे और अपने अनाज को लंबे समय तक सुरक्षित रख पाएंगे.
  • भंडारण में सुरक्षित अनाज को किसान बाजारों में ही समय पर और अच्छी कीमतों में बेच सकते हैं. इससे किसानों की आर्थिक स्थिति सुधरेगी.
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर पंजीकरण करवाना होगा.
  • इच्छुक उम्मीदवार इस योजना के लिए घर बैठे अपने कंप्यूटर या मोबाइल के माध्यम से इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं.

Read Also – 

Gramin Bhandaran Yojana 2023 के लाभार्थी

  • किसान
  • कृषक/उत्पादक समूह
  • प्रतिष्ठान
  • गैर सरकारी संगठन
  • स्वयं सहायता समूह
  • कंपनियां
  • निगम
  • व्यक्ति
  • सरकारी संगठन
  • परिसंघ
  • कृषि उपज विपण समिति

योजना के अंतर्गत आने वाले बैंक

  • अर्बन कोऑपरेटिव बैंक
  • रीजनल रूरल बैंक
  • कमर्शियल बैंक
  • नॉर्थ ईस्टर्न डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन
  • स्टेट कोऑपरेटिव एग्रीकल्चरल एंड रूरल डेवलपमेंट बैंक
  • स्टेट कोऑपरेटिव बैंक
  • एग्रीकल्चरल डेवलपमेंट फाइनेंस कमेटी

सब्सिडी मिलने का आधार

  • प्लेटफार्म का निर्माण
  • गुणवत्ता प्रमाणन सुविधा
  • गोदाम निर्माण की पूंजी लागत
  • विभिन्न वेयरहाउसिंग सुविधाएं इत्यादि।
  • पैकेजिंग की सुविधा
  • भीतरी सड़क का निर्माण
  • ग्रेडिंग सुविधा
  • चारदीवारी का निर्माण
  • जल निकासी प्रणाली का निर्माण कार्य

प्रदान की जाने वाली सब्सिडी की दरें

  • एनसीडीसी की सहायता से किए जाने वाले भंडार ग्रह के निर्माण के लिए केंद्र सरकार द्वारा परियोजना लागत का केवल 25% सब्सिडी के तौर पर दिया जाएगा.
  • जो किसान लाभार्थी अन्य संस्था कंपनियों या निगम के अंतर्गत आते हैं उन किसानों को पूंजी की लागत का केवल 15% सब्सिडी के रूप में प्रदान किया जाएगा. ये 1.35 करोड़ रुपए से अधिक नहीं होगा.
  • यदि कोई किसान स्नातक या किसी सहकारी संगठन से संबंधित है और वह अपने क्षेत्र में किसी परियोजना का कार्य करवाता है तो उस स्थिति में उसे परियोजना लागत की 25% सब्सिडी प्रदान की जाएगी जो अधिकतम 2.25 करोड रुपए की धनराशि होगी.
  • इस योजना के तहत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पहाड़ी क्षेत्र के नागरिकों से संबंधित व्यक्ति अथवा संगठनों को परियोजना की पूंजी लागत का एक तिहाई हिस्सा अधिकतम 3 करोड़ रुपए तक की धनराशि सब्सिडी के रूप में प्रदान की जाएगी.

मुख्य तथ्य

  • भंडार गृहों में रोशनदान एवं खिड़कियों को पक्षियों से सुरक्षित रखना आवश्यक होगा और कीटाणुओं से भी भंडारण गृहों को सुरक्षित रखना आवश्यक है.
  • Gramin Bhandaran Yojana के तहत भंडार गृहों के साथ-साथ पक्की सड़क, जल निकासी की व्यवस्था, सामान लाने उतारने की व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था आदि को भी शामिल किया जाएगा.
  • इन भंडार गृहों में अनाज को कीटाणुओं से सुरक्षित रखना आवश्यक है.
  • देश के किसान इस योजना के तहत किसी भी स्वतंत्र जगह पर भंडार गृहों का निर्माण कर सकते हैं.
  • भंडार गृह के लिए किसानों के पास स्वयं की भूमि होनी चाहिए और इन भंडार गृहों की ऊंचाई कम से कम 4 से 5 मीटर तक होनी चाहिए.
  • अनाज भंडारण के लिए किसानों को लाइसेंस लेना अनिवार्य होगा.

Gramin Bhandaran Yojana 2023 की पात्रता मापदंड

  • किसान तथा कृषि से जुड़े संगठनों को ही इस योजना के तहत लाभ प्रदान किया जाएगा.
  • ग्रामीण भंडारण योजना के लिए आवेदन करने वाला आवेदक भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए.
  • भंडारण के लिए किसान के पास में स्वयं की भूमि होनी चाहिए.

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • राशन कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • खेती से सम्बंधित आवश्यक दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

Gramin Bhandaran Yojana 2023 के लिए आवेदन कैसे करें?

  • सबसे पहले नेशनल बैंक एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें.
  • वेबसाइट के होम पेज पर वेयरहाउसिंग सब्सिडी स्कीम के विकल्प पर क्लिक करें.
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर इस योजना का आवेदन फॉर्म ओपन हो जाएगा.
  • इस आवेदन फॉर्म में आपको मांगी गई सभी आवश्यक जानकारी का विवरण दर्ज करके अपने सभी दस्तावेजों को अपलोड करना होगा.
  • सभी दस्तावेज अपलोड करने के बाद Submit बटन पर क्लिक करें.
  • इस प्रकार आप Gramin Bhandaran Yojana के तहत आवेदन कर पाएंगे.

Contact Helpline

हेल्पलाइन नंबर:- 022-26539350
ईमेल आईडी:- [email protected]


Filed in: Sarkari Yojana Tags: , , ,

Leave a Reply

Submit Comment

© Recruitment result 2012-2022. All rights reserved.

Menu
Recruitment Result 2023